जल जीवन मिशन के अंतर्गत कराये जा रहे कार्यों का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण

हाथरस । विकासखंड सिकन्दराराऊ के ग्राम पंचायत बरतरखास तथा ग्राम पंचायत नौरथा ईसेपुर खिजरपुर में जल जीवन मिशन के अंतर्गत कराये जा रहे कार्यों जैसे पाइप लाइन, गृह जल संयोजन, ट्यूबेल की स्थापना एवं ओवरहेड टैंक के निर्माण आदि कार्यों का निरीक्षण कर जिलाधिकारी रमेश रंजन ने कार्यों में अपेक्षित सुधार लाने तथा प्रगति रिपोर्ट नियमित रूप से उपलब्ध कराने एवं पाईप लाईन डालने के उपरांत सड़को की मरम्मत तत्काल कराने के निर्देश दिए।
निरीक्षण के दौरान अधिशासी अभियन्ता जल निगम ग्रामीण मो0 इमरान खान ने बताया कि ग्राम पंचायत बरतरखास में जल जीवन मिशन के कवर एग्रीमेंट दिनांक 07.12.2021 हुआ था तथा इसके पूर्ण होने की तिथि मार्च 2022 निर्धारित की गई थी। उन्होंने बताया कि पूरे ग्राम पंचायत में लगभग 12 किलोमीटर पाइप लाईन डालते हुए 541 घरों में कनेक्शन दिया जाना है। वर्तमान में केवल 1700 मीटर पाईप लाईन डाली गई है। ट्यूबैल तथा पम्प हाऊस का निर्माण कार्य प्रारम्भ नहीं हुआ है। निरीक्षण के दौरान पाईप लाईन डालने का कार्य किया जा रहा था। पाईप लाईन डालने हेतु खोदी गई नाली की गहराई की माप जिलाधिकारी द्वारा करवाई गई जो कि मानक से कम होने पर जिलाधिकारी ने मानक के अनुरूप नाली की खुदाई कराते हुए पाईप लाईन डालने के निर्देश दिए।
इसके पश्चात् उन्होंने ग्राम पंचायत नौरथा ईसेपुर खिजरपुर का निरीक्षण किया। अधिशासी अभियन्ता जल निगम ग्रामीण मो0 इमरान खान ने बताया कि पानी की पाईप लाईन डालने का कार्य पूर्ण हो गया है तथा एफ0एस0टी0पी0 के माध्यम से 186 घरों में कनैक्शन की कार्यवाही की गई है। पेयजल योजना की लागत रूपये 105.94 लाख है। पम्प हाउस निर्माण का कार्य प्रगति पर है तथा ट्यूबैल के डब्लपमेंट कार्य को पूर्ण कर लिया गया है। शिरोपरि जलाशय की क्षमता 75 के0एल0डी0 एवं ऊँचाई 10 मीटर है, जिसका कार्य प्रारम्भ नहीं हुआ है। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पाईप लाईन मानक के अनुरूप डाली गई है कि नहीं जिसके जाँच हेतु मौके पर खुदाई कर यथास्थिति का जायजा लिया गया। जिलाधिकारी ने लम्बित/अवशेष कार्यों को तत्काल पूर्ण करने तथा पाईप लाईन डालने के पश्चात हाइड्रो टेस्ट करने के निर्देश दिए। हाइड्रो टेस्ट तत्काल पूर्ण करने के पश्चात नियत समयावधि में पाईप लाईन डालने के लिये की गई सड़कों की खुदाई के मरम्मत कार्य को तत्काल पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खुदी हुई सड़कों से यदि किसी भी प्रकार की कोई दुर्घटना अथवा यातायात बाधित होता है तो संबंधित कार्यदायी संस्था की जिम्मेदारी तय करते हुए कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी साहित्य प्रकाश मिश्र, उप जिलाधिकारी सि0राऊ अंकुर वर्मा, भूमि संरक्षण अधिकारी/खण्ड विकास अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!