हिन्दी पखवाड़ा के अंतर्गत निंबध, अंताक्षरी, ई-पोस्टर, हिंदी क्विज, नारा लेखन, संगोष्ठी, वर्चुअल कार्यशाला का आयोजन

हाथरस । युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार की इकाई नेहरू युवा केन्द्र हाथरस के तत्वाधान में लेखा एवं कार्यक्रम सुपरवाइजर ऊषा सक्सेना के निर्देशन में हिन्दी पखवाड़ा के अंतर्गत निंबध, अंताक्षरी, ई-पोस्टर, हिंदी क्विज, नारा लेखन, संगोष्ठी, वर्चुअल कार्यशाला कार्यक्रम किये जा रहे है।
नेहरू युवा केन्द्र, हाथरस विकास खंड हसायन के कॉलेज संकट मोचन इंटर कॉलेज में हिंदी पखवाड़ा के तहत संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें बतौर मुख्य वक्ता कॉलेज के संस्थापक, राष्ट्रीय स्वयं सेवक, कॉलेज के अध्यापक उपस्थित रहे। कॉलेज के संस्थापक लोकेश दीक्षित ने कहा कि हिंदी भारत और भारतीयों की पहचान है। यह मधुर, सहज, सरल भाषा है। इसका शब्द भंडार बहुत ही समृद्ध है। संपूर्ण भारत में यह बोली, समझी जाती है। उन्होंने कहा कि आज विश्व की तीसरी सबसे अधिक व्यवहन्त भाषा है। साथ ही उद्योग, व्यापार, वाणिज्य और बाजार की भाषा हिंदी है। कॉलेज के प्राचार्य ने सभी छात्राओं को शुद्ध व परिष्कृत हिंदी सीखने-बोलने के लिए प्रेरित किया। विकास खंड हसायन के स्वयं सेवक देव वसंत दीक्षित ने कहा कि हम सबको हिंदी के प्रति सभी प्रकार की कुंठाओं को तिलांजलि देकर हिंदी भाषा का प्रयोग और प्रचार-प्रसार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भूमंडलीय और बाजारवाद के दौर में हिंदी के माध्यम से संपूर्ण विश्व में रोजगार बिखरे पड़े है। जरूरत है तलाशने की। इस मौके पर छात्राओं ने हिंदी भाषा पर केंद्रित वाद-विवाद प्रतियोगिता में बढ़ चढ़कर हिस्या लिया और अपने कौशल का परिचय दिया।
इस अवसर पर राजेश कुमार शर्मा, नूर इस्लाम, मलखान सिंह, विकास कुमार आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!